"दूरसंचार क्षेत्र में डेटा की गोपनीयता, सुरक्षा और स्वामित्व" पर परामर्श पत्र पर ट्राई सुझाव आमंत्रित करता है

भारत में दूरसंचार सेवाओं के तेजी से विकास ने देश के समग्र आर्थिक और ...

See details Hide details
TRAI Invites Suggestions on Consultation Paper on "Privacy, Security and Ownership of the Data in the Telecom Sector"

भारत में दूरसंचार सेवाओं के तेजी से विकास ने देश के समग्र आर्थिक और सामाजिक विकास को सहायता प्रदान की है। इससे उपयोगकर्ताओं के बीच बेहतर कनेक्टिविटी, सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) सेवाओं का उपयोग बढ़ रहा है और विभिन्न प्रकार के नए व्यापारिक मॉडल के उद्भव में वृद्धि हुई है। समानांतर, आधुनिक संचार सेवाओं के उपयोग के माध्यम से उत्पन्न होने वाले डेटा के मात्रा और मूल्य में कम छलांग हुई है। आईसीटी सेवाओं के साथ उपयोगकर्ता के इंटरैक्शन के प्रत्येक चरण, चाहे पारंपरिक दूरसंचार सेवाओं, उपकरणों, अनुप्रयोगों या सामग्री के अन्य रूपों के माध्यम से, बड़ी मात्रा में डेटा तैयार करने के परिणामस्वरूप ही हुआ है।

डेटा की उपलब्धता ने डेटा विश्लेषिकी के व्यवसाय और दक्षता की क्षमता को बढ़ाया है। हालांकि, इस बदलाव के माहौल में व्यक्तियों के डेटा अधिकारों को पर्याप्त रूप से संरक्षित किया जा रहा है या नहीं यह आकलन करना उतना ही महत्वपूर्ण है। इसलिए डेटा संरक्षण का मतलब व्यक्तियों की क्षमता को समझने और नियंत्रित करने के लिए किया जा सकता है मतलब ये कि उन्हें पता होना चाहिए कि उनसे संबंधित जानकारी दूसरों तक पहुंचाई जा सकती है और इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। प्राधिकरण का मानना है कि प्रयोक्ताओं को अपने व्यक्तिगत डेटा के स्वामित्व और नियंत्रण का अधिकार होना चाहिए और यही सुनिश्चित करने के लिए, सेलुलर के सभी खिलाड़ियों या कहें कंपनियों को अपने ग्राहकों से संबंधित डेटा के संग्रहण, भंडारण और उपयोग करते समय कुछ सुरक्षा उपायों का पालन करना होगा। अपने ग्राहकों से संबंधित डेटा परामर्श का पूरा पाठ देखने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं।

निम्नलिखित उद्देश्यों के साथ परामर्श पत्र जारी किया गया है:
(ए) दूरसंचार सेवाओं के उपयोगकर्ताओं के आंकड़ों के निजी डेटा, स्वामित्व और नियंत्रण की गुंजाइश और परिभाषा की पहचान करना
(बी) डेटा नियंत्रकों के अधिकारों और जिम्मेदारियों को समझना और पहचानना
(सी) दूरसंचार क्षेत्र में वर्तमान में डेटा संरक्षण उपायों की पर्याप्तता और दक्षता का आकलन करना
(डी) डिजिटल सेवाओं की डिलीवरी के संबंध में डेटा संरक्षण से संबंधित प्रमुख मुद्दों की पहचान करना। इसमें दूरसंचार और इंटरनेट सेवा प्रदाता (टीएसपी) के साथ-साथ अन्य उपकरणों, नेटवर्क और अनुप्रयोगों द्वारा दूरसंचार और इंटरनेट सेवाओं के प्रावधान शामिल हैं जो टीएसपी द्वारा प्रदत्त सेवाओं के माध्यम से उपयोगकर्ताओं के साथ जुड़ते हैं और उस प्रक्रिया में उपयोगकर्ता डेटा एकत्र करते हैं और नियंत्रित करते हैं

सुझाव प्रस्तुत करने की आखिरी तारीख 21 नवम्बर, 2017 के मध्यरात्रि तक है।

All Comments
#DoT, #MyGov, #TRAI, #MoC
Reset
Showing 71 Submission(s)
Uttam Kumar's picture

Uttam Kumar 3 weeks 2 days ago

Telecom Operators are trying to Customer should Re-Verified the Exiting number through retailer point.
But most of retailer has not buying Biometrics Machine or he is not capable to purchase Ekyc machine due to economic Issue. Most of rural area customer coming at retailer point without any Handset and he is not able to provide “OTP” immediately to retailer. Please provide customer or retailer new option that he can Verified the number through SMS .

Rajeev P's picture

Rajeev P 1 month 1 week ago

All data is the sole ownership of individual,Since without authorization of the respective individual all of the mandatory details kept under secret control of the government.Similar process process need to ensure the comman man interest. We need the hacking peoples and already thinkers forum in the board.It must be given top priority so the fraud of detection always in place. prevention is better than cure.

Anurag Tiwari's picture

Anurag Tiwari 1 month 1 week ago

When I approached Government of India, Ministry of Finance, Ministry of Commerce and Ministry of Corporate Affairs for opening a venue for DIGITAL ECONOMY. I was blocked from emailing and it was an attempt from PRIME MINISTER OFFICE, PM's Secretary Mr Nirpender Misra. Again Chief Minister of Jharkhand Mr Raghuwar Das's Secretary Mr Sunil Kumar Barnwal was threatened for showing positive cooperation. Later on I was termed that you are not welcome.May I know what exactly Mr Jayant Sinha can do ?

Kailash Chandra Rathore's picture

Kailash Chandra Rathore 1 month 2 weeks ago

I suggest that all persons visiting a particular place of worship in the city/ town should register with that place of worship, be it Temple, masqu or gurudwar.it will help identify undesirable person and prevent entry of anti social elements.Security agencies will also get info on visit of particular person .it will help regulate growth of pujasthal in the country.one person should register at one place only to regulate their mushroom in growth.
Thanks

DrKartikay Pandey's picture

DrKartikay Pandey 1 month 3 weeks ago

Vande Mataram Modi jee,
The biggest issue is lack of public confidence in going Cashless.
People are still skeptical/reluctant in going Cashless.
People still firmly believe that the hard/ real cash in their own hands is only undoubtedly their own money, rather than the abstract / invisible Cashless transactions.
They do not trust the Invisible Money in their own bank accounts, but only the real cash in their own hands.
We need to win the "Invisible Money" Vs. "Visible money" battle.
Regs,

DrKartikay Pandey's picture

DrKartikay Pandey 1 month 3 weeks ago

VandeMataram Modiji,
The failure of Cashless India Campaign/ Bhim App, is due to strong public apprehension/ suspicion due to several reports of electronic transaction relayed crimes/ frauds.
E-transactions/ through PoS machines, need to be more popularized & incentivized.
People are still scared of paying/receiving Cashless payments, mainly due to misinformation, & negative campaign by our opponents.
Fees charged by the banks, need to be minimized.
Regards,
DrKartikayPandey@gmail.com

DrKartikay Pandey's picture

DrKartikay Pandey 1 month 3 weeks ago

Vande Mataram Modi jee,
Swatchhta abhiyan can only be successful if we stop people from littering on roadsides, & burning garbage openly.
The correct estimation of percentage of Green House gases in air, is necessary to formulate effective strategy against climate change.
The scarcity of Green leafy vegetables, over the past decade has caused a big crisis, towards obtaining cheap, healthy food. We must eat food for nutrition & not for taste.
Raw, unfried food like sattu is the best.
Regards