स्वर्ण मुद्रीकरण स्कीम का मसौदा पर अपने विचार साझा करें

Share your views on Draft Gold Monetization Scheme
Last Date Jun 02,2015 17:00 PM IST (GMT +5.30 Hrs)
प्रस्तुतियाँ समाप्त हो चुके

वित्त मंत्री ने केंद्रीय बजट 2015-16 के अपने बजट भाषण में निम्नमलिखित ...

वित्त मंत्री ने केंद्रीय बजट 2015-16 के अपने बजट भाषण में निम्नमलिखित घोषणा की थी: "भारत विश्वर में स्व र्ण के सबसे बड़े उपभोक्ता ओं में से एक है तथा प्रतिवर्ष 800-1000 टन स्वीर्ण का आयात करता है। यद्यपि, भारत में 20,000 टन से अधिक के स्व्र्ण भंडार का अनुमान है, लेकिन अधिकांशत: यह स्वेर्ण न तो व्यातपार में और न मुद्रीकरण में ही प्रयुक्त: होता है। इसको ध्याान में रखते हुए, सरकार ने बजट 2015-16 में स्वतर्ण मुद्रीकरण स्कीैम की घोषणा की है, जो वर्तमान स्वटर्ण जमा और स्व्र्ण धातु ऋण स्की मों दोनों का स्थाोन लेगी। नई स्कीमम सोना जमा कराने वाले व्यनक्ति यों को उनके धातु खातों में ब्याकज अर्जन तथा ज्वे‍लरों को उनके धातु खाते में ऋण प्राप्ता करने की अनुमति देगी। बैंक/अन्यव डीलर भी स्वार्ण का मुद्रीकरण कर सकेंगे।"

तदनुसार, इस स्कीीम की रूपरेखा का मसौदा तैयार किया गया है। स्वर्ण मुद्रीकरण स्कीम का मसौदा पर टिप्पणियां और दृष्टिकोण आमंत्रित किए जाते हैं।

स्वर्ण मुद्रीकरण स्कीम का मसौदा (नीचे दी गई स्वलर्ण मुद्रीकरण स्की‍म केवल मसौदा स्तआर पर है और यहां सार्वजनिक मत प्राप्ती करने के लिए दी गई है। चूंकि, यह स्कीकम अभी मसौदा स्तरर है, अत: सरकार की ओर से किसी वचनबद्धता को सूचित नहीं करती है)

आप अपनी टिप्पणियां 2 जून, 2015 शाम के 5:00 बजे तक भेज सकते हैं।

See Details Hide Details
सभी टिप्पणियां देखें
रीसेट
566 सबमिशन दिखा रहा है
2180
rohit sharma 4 साल 2 महीने पहले

we also need to bring temple trust holding huge piles of precious metals / stones at their end as they are neither able to spend/use neither it is coming to any use of people of India. if god is saviour & father/math or for all then offered wealth to him should be used for welfare of public. I believe GOD will be most happy in getting the best use done of the offering for serving the mankind his most precious creation. In olden days temples used to setup universities schools etc. for progress of the people. religion also has duty towards nation building, only those religion are considered good whose nations people are well & prosperous. let put India before god.

6100
Sashwata Sur 4 साल 5 महीने पहले

Purpose of this submission is to expand the scope of Monetization through a “National Jewellery Exchange” to rent, exchange or sell jewellery backed by the security of personal gold deposits, pledged with banks, even in its original jewellery form.

It will give ladies choice of contemporary fashion and variety for special occasions at marginal costs and generate income for all.

Note Attached.

#DraftGoldMonetizationScheme, #GoldMonetizationScheme, #GMS, #MinistryofFinance, #MyGov