अर्थ चित्र - IEPFA पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता

Artha Chitra - IEPFA Poster Making Competition
आरंभ करने की तिथि :
May 05, 2022
अंतिम तिथि :
May 25, 2022
23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)
प्रस्तुतियाँ समाप्त हो चुके

निवेशक शिक्षा और संरक्षण कोष प्राधिकरण (आईईपीएफए) भारत सरकार द्वारा ...

निवेशक शिक्षा और संरक्षण कोष प्राधिकरण (आईईपीएफए) भारत सरकार द्वारा कंपनी अधिनियम, 2013 की धारा 125 के प्रावधान को लागू करने वाली एक वैधानिक संस्था है। प्राधिकरण के पास निवेशकों की शिक्षा और निवेशकों के हितों से संबंधित सुरक्षा के बारे में जागरूकता को बढ़ावा देने और उचित माध्यम से सही दावेदार को शेयर, दावा न किए गए लाभांश, परिपक्व जमा / डिबेंचर आदि की वापसी करने का अधिकार शामिल है।

IEPFA अपनी तरह का सबसे छोटा और एकमात्र संगठन है जिसके पास 1.4 बिलियन की आबादी वाले पूरे देश के कुछ एकाधिक अधिकारियों के साथ समावेशी वित्तीय साक्षरता को बढ़ावा देने का विधायी जनादेश है। कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय के तत्वावधान में 07 सितंबर, 2016 को अपनी स्थापना के बाद से, यह प्राधिकरण वित्तीय रूप से जागरूक समाज को सुनिश्चित करने के लिए देशवासियों को शिक्षित और सशक्त बनाने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रहा है। अपने मैंडेट का पालन करते हुए, आईईपीएफए ने आम जनता को धोखाधड़ी और पोंजी योजनाओं के शिकार न होने जैसे जागरूकता संबंधी संदेश फैलाने के लिए ग्रामीण, अर्ध-शहरी और शहरी क्षेत्रों के 30 लाख नागरिकों तक पहुंचने के लिए जमीनी निवेशक जागरूकता कार्यक्रमों पर 65,000 से अधिक का आयोजन किया है, जिससे छोटे/कमजोर निवेशकों की सुरक्षा की जा सके।

IEPFA के पास दो प्रमुख उद्देश्य हैं। वो निम्नानुसार देखा जा सकता है: -
शासना देश:
● निवेशकों के शेयर, दावा न किए गए लाभांश, परिपक्व जमा/डिबेंचरों की वापसी सुनिश्चित करना
● निवेशकों की शिक्षा, जागरूकता और सुरक्षा को बढ़ावा देना

यह प्राधिकरण समावेशी वित्तीय साक्षरता, निवेशक शिक्षा, संरक्षण और अधिकारिता का संदेश देने के लिए विभिन्न गतिविधियों का आयोजन भी कर रहा है, साथ ही यह प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में शुरू किए गए 75-सप्ताह के भव्य उत्सव की तर्ज पर 'आजादी का अमृत महोत्सव' के 75 साल भी मना रहा है। "आज़ादी का अमृत महोत्सव" हमारी स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर 12 मार्च, 2021 को शुरू हुई थी जो कि 15 अगस्त, 2023 को समाप्त होगी।

इस भावना को चिह्नित करने एवं इसे भारत 2.0 विषय के साथ आगे ले जाने के लिए:
भारत का 2047 विजन स्मार्ट, जानकार और सशक्त निवेशक हैं; आईईपीएफए प्रतियोगिता की एक श्रृंखला की घोषणा करने जा रहा है, जिनमें से एक "अर्थ चित्र" अखिल भारतीय स्तर पर विभिन्न आयु समूहों के छात्रों के लिए एक हाइब्रिड पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता है, जो कि बचत, बजट, निवेश के मामले में पैसे के मूल्य को परिभाषित करती है; और फ्रॉड योजनाओं से बचाव करती है।

प्रतियोगिता का उद्देश्य भविष्य के अवसरों और चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए भारतीय युवाओं को पैसे के मूल्य के बारे में जागरूक करना है।

पोस्टर का विषय, कैटेगरी, टाइमलाइन और पुरस्कार व सम्मान के बारे में जानने के लिए यहाँ क्लिक करें। (PDF-112KB)

[कृपया ध्यान दें: प्रतिभागी को विवरण बॉक्स में उस कैटेगरी का उल्लेख करना चाहिए जिसमें वह आवेदन कर रहा है।]

नियम और शर्तें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। (PDF-105KB)

अंतिम तिथि : 25 मई, 2022

इस कार्य के लिए प्राप्त हुई प्रविष्टियाँ
222
कुल
0
स्वीकृत
222
समीक्षाधीन