डिजिटल कम्युनिकेशन इनोवेशन स्क्वायर (DCIS) के तहत आवेदन आमंत्रित

डिजिटल कम्युनिकेशन इनोवेशन स्क्वायर (DCIS) के तहत आवेदन आमंत्रित
आरंभ करने की तिथि :
Apr 26, 2022
अंतिम तिथि :
May 24, 2022
23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)
प्रस्तुतियाँ समाप्त हो चुके

चैंपियन सर्विसेज सेक्टर स्कीम (सीएसएसएस) के तहत डिजिटल कम्युनिकेशन ...

चैंपियन सर्विसेज सेक्टर स्कीम (सीएसएसएस) के तहत डिजिटल कम्युनिकेशन इनोवेशन स्क्वायर (डीसीआईएस); दूरसंचार उत्कृष्टता केंद्र (टीसीओई) भारत, डीओटी की ओर से निम्नलिखित उद्देश्य के साथ पात्र स्टार्टअप्स / एमएसएमई / कंसोर्टियम और व्यक्तिगत पेशेवर से आवेदन आमंत्रित है:
• अनुसंधान, डिजाइन, विकास, अवधारणा परीक्षण के प्रमाण, आईपीआर निर्माण, पायलट परियोजना और निर्माण के लिए ईकोसिस्टम को बढ़ावा देना।
• राष्ट्रीय आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए मानकों को विकसित और स्थापित करना एवं वैश्विक मानक के निर्माण में योगदान के लिए अंतरराष्ट्रीय मानकीकरण निकायों में भागिदारी।
• भारत के विशिष्ट अनुप्रयोग विकास को बढ़ावा देने के लिए जो जनता के व्यवहार पैटर्न से मेल खाता हो और आर्थिक और सामाजिक दोनों तरह की दैनिक गतिविधियों में मूल्य जोड़े।
• क्षमता निर्माण और संतुलित दूरसंचार के विकास के लिए अकादमिक, अनुसंधान संस्थानों, स्टार्ट-अप और उद्योग के बीच तालमेल बनाना।
• आर एंड डी और व्यावसायीकरण के बीच की खाई को पाटना।

मुख्य क्षेत्र
भारत में संचार सेवाएं मुख्य रूप से आयातित उपकरणों और प्रौद्योगिकियों द्वारा प्रदान की जाती हैं। यह योजना स्वदेशी नवाचार और भविष्य की प्रौद्योगिकियों के इन्क्यूबेशन और उनके परिनियोजन/विनिर्माण को बढ़ावा देगी, जिसके परिणामस्वरूप भारतीय दूरसंचार क्षेत्र के लिए मूल्यवर्धन साबित होगा। यह योजना मुख्य रूप से निम्नलिखित क्षेत्रों में केंद्रित होगी:

• एलटीई एडवांस्ड, 5जी और फ्यूचर जेनरेशन एक्सेस टेक्नोलॉजीज, सॉफ्टवेयर डिफाइंड नेटवर्क्स (एसडीएन) और नेटवर्क फंक्शन वर्चुअलाइजेशन (एनएफवी), आईओटी/एम2एम, क्लाउड और डेटा एनालिटिक्स।
• बैकहॉल रेडियो और संचार प्रौद्योगिकी, कोर और एज राउटर, सॉफ्ट स्विच, ईथरनेट स्विच, एक्सडीएसएल, मोडेम, राउटर, डोंगल, डेटा कार्ड, मोबाइल हैंडसेट, वायरलेस
• एक्सेस प्वाइंट, मोबाइल हैंडसेट आदि,
• सुरक्षा और निगरानी उपकरण, सेंसर,
• दूरसंचार, आईटी और प्रसारण प्रौद्योगिकियों का अभिसरण,
• ब्रॉडबैंड सेवाओं के लिए ड्राइवर्स के रूप में ओवर-द-टॉप (ओटीटी) सेवाएं
• दूरसंचार क्षेत्र के लिए हरित और ऊर्जा कुशल प्रौद्योगिकी/समाधान और
• अन्य क्षेत्र जिसे भविष्य में व्यावसायिक रूप से प्रासंगिक माना जाता है।

योजना के तहत उन परियोजनाओं/विचारों को वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी जो कम से कम "प्रूफ ऑफ कॉन्सेप्ट (पीओसी)" स्तर तक पहुंच चुके हैं। लाभार्थी को अनुदान के रूप में वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

प्रूफ-ऑफ-कॉन्सेप्ट स्टेज से माइलस्टोन आधारित अनुदान की सीमा
स्टार्ट-अप: 50 लाख रुपये तक
एमएसएमई: 2 करोड़ रुपये तक
कंसोर्टियम: 10 करोड़ रुपये तक

अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

योजना के तहत आवेदन करने की अंतिम तिथि 24 मई 2022 है।

इस कार्य के लिए प्राप्त हुई प्रविष्टियाँ