संघ लोक सेवा आयोग के लिए लोगो डिजाइन करें

Last Date Dec 11,2018 18:00 PM IST (GMT +5.30 Hrs)
प्रस्तुतियाँ समाप्त हो चुके

ब्रिटिश संसद की चयन समिति के लॉर्ड मैकाले रिपोर्ट के बाद 1854 में भारत ...

ब्रिटिश संसद की चयन समिति के लॉर्ड मैकाले रिपोर्ट के बाद 1854 में भारत में योग्यता पर आधारित आधुनिक सिविल सेवा की अवधारणा की शुरुआत हुई। रिपोर्ट में सिफारिश की गई थी कि ईस्ट इंडिया कंपनी की संरक्षित प्रणाली को प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं के माध्यम से योग्यता पर आधारित स्थायी सिविल सेवा द्वारा प्रतिस्थापित किया जाना चाहिए। इस उद्देश्य से लंदन में 1854 में एक सिविल सेवा आयोग की स्थापना की गई और 1855 में प्रतिस्पर्धी परीक्षाएं शुरू की गई थीं। शुरुआती दौर में परीक्षा केवल लंदन में आयोजित की जाती थी, लेकिन 1922 से इंडियन सिविल सर्विस एक्जामिनेशन भारत में भी आयोजित होने लगी थी। यह परीक्षा पहले इलाहाबाद में और बाद में फेडरल पब्लिक सर्विस कमीशन की स्थापना के साथ दिल्ली में भी आयोजित होने लगी। 26 जनवरी,1950 को भारत का संविधान लागू होने के बाद फेडरल पब्लिक सर्विस कमीशन को संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) के रूप में जाना जाने लगा।

संघ लोक सेवा आयोग संवैधानिक निकाय है जिसके महत्वपूर्ण कार्य इस प्रकार हैं-
1. संघ की सेवाओं की नियुक्ति के लिए परीक्षाएं आयोजित करना। इसके द्वारा आयोजित की जाने वाली कुछ प्रमुख परीक्षाएं सिविल सेवा, भारतीय वन सेवा, भारतीय इंजीनियरिंग सेवाएं, संयुक्त चिकित्सा सेवा, राष्ट्रीय रक्षा अकादमी परीक्षा, संयुक्त रक्षा सेवा है।
2. साक्षात्कार के माध्यम से चयन के जरिए प्रत्यक्ष भर्ती।
3. पदोन्नति / प्रतिनियुक्ति के आधार पर अधिकारियों की नियुक्ति
4. सरकार के विभिन्न सेवाओं और पदों के लिए भर्ती नियमों का निर्माण और संशोधन।
5. विभिन्न सिविल सेवाओं से संबंधित अनुशासनिक मामले।
6. भारत के राष्ट्रपति द्वारा आयोग को संदर्भित किसी भी मामले पर सरकार का उन्नयन।

यूपीएससी अपनी भूमिका व कार्य को प्रतिबिंबित करने वाला 'लोगो' बनाना चाहता है, जो जमसामान्य की समझ में आसानी से आ जाए। यह लोगो संवैधानिक जिम्मेदारी निर्वहन में आयोग के आचार और उत्कृष्टता को प्रतिविंबित करेगा। आयोग से संबंधित अन्य जानकारी और विवरण आयोग की वेबसाइट www.upsc.gov.in पर देखी जा सकती है।

चयनित लोगो के डिजाइनर को 75,000 / - रुपये का पुरस्कार मिलेगा और उसे यूपीएससी को डिजाइन का कॉपीराइट देना होगा। (टीडीएस की कटौती के बाद पुरस्कार राशि देय होगी)

प्रविष्टियों को स्वीकार करने की अंतिम तिथि 11-12-2018 को 6 बजे है

नियम और शर्तें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

किसी भी प्रश्न के लिए, लिखें:
अनिल कुमार
अवर सचिव
ईमेल: Anilkumar-upsc@gov.in (लिंक से ई-मेल भेजा जा सकता है)
फोन: 011-23382415

See Details Hide Details
SUBMISSIONS UNDER THIS TASK
2672
Total
0
Approved
2672
समीक्षाधीन