संविधान दिवस और मौलिक कर्तव्य अभियान हेतु न्याय विभाग के लिए लोगो डिजाइन प्रतियोगिता

Last Date Nov 12,2019 23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)
प्रस्तुतियाँ समाप्त हो चुके

भारत के संविधान को अपनाने और संविधान के निर्माण में बाबासाहेब डॉ. ...

भारत के संविधान को अपनाने और संविधान के निर्माण में बाबासाहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर व अन्य महापुरुषों के अमूल्य योगदान के प्रति सम्मान व श्रद्धांजलि प्रकट करने के लिए हर साल 26 नवंबर को संविधान दिवस मनाया जाता है।

इस वर्ष 26 नवंबर, 2019 को भारत के संविधान को अपनाने की 70 वीं वर्षगांठ मनाने के लिए भारत सरकार मौलिक कर्तव्यों के संबंध में जागरूकता के लिए एक अभियान शुरू कर रही है। मौलिक कर्तव्यों का उल्लेख हमारे देश के संविधान के अध्याय IV-A (अनुच्छेद 51 ए) में किया गया है। देश भर में इस अभियान का समापन 14 अप्रैल 2020 को बाबासाहेब अम्बेडकर की जयंती के दिन होगा, जिसे समरसता दिवस के रूप में मनाया जाता है।

मौलिक कर्तव्य सभी नागरिकों के आचार एवं व्यवहार के संबंध में एक संवैधानिक निर्देश हैं। मौलिक कर्तव्यों के पालन की जिम्मेवारी प्रत्येक नागरिकों पर है। यह कानूनी रूप से लागू करने योग्य नहीं होने के बावजूद, इसका अनुपालन अनिवार्य है, क्योंकि जहां कर्तव्य है वहीं अधिकार है और जहां अधिकार है, वहीं कर्तव्य है। मौलिक कर्तव्यों में निहित संदेशों और मूल्यों को प्रभावी रूप से देश के हर नागरिक तक पहुंचाना बेहद जरूरी है।

इन मौलिक कर्तव्यों को सुदृढ़ करने का वचन देकर हम आम नागरिक के रूप में अपने देश और अन्य नागरिकों के प्रति अपने कर्तव्यों को पूरा करने में एक सकारात्मक और प्रभावी भूमिका निभा सकते हैं और यह भी सुनिश्चित करेंगे कि पूरे देश में सौहार्द की भावना कायम रहे।

नियम और शर्तें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

See Details Hide Details
SUBMISSIONS UNDER THIS TASK
1110
Total
0
Approved
1110
समीक्षाधीन