Inviting Suggestions on the Amendment of Apprentices Act,1961

Last Date May 10,2021 23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)

The general public/stakeholder is hereby informed that the Ministry of Skill Development and Entrepreneurship (MSDE) invites comments/suggestions on the amendment in “Apprentices ...

The general public/stakeholder is hereby informed that the Ministry of Skill Development and Entrepreneurship (MSDE) invites comments/suggestions on the amendment in “Apprentices Act,1961” with an objective to enhance the apprenticeship opportunities for youth.

Any person/stakeholder desirous of sending their comments/suggestions may do so through e-mail at anita.sriv@nic.in within thirty working days from the date of publication of the details of the invite.

Click here to read the “Concept note on Amendment in Apprentices Act, 1961”.

The last date for submission of inputs is 10th May 2021.

See Details Hide Details
All Comments
Reset
Showing 1039 Submission(s)
18110
UMANG AGRAWAL 1 hour 25 minutes ago

कारन यहाँ परीक्षा का गलत पैटर्न भी है जहाँ पजल और अन्य फालतू टॉपिक्स के प्रश्न देकर परीक्षा का उद्देश्य पूर्ण नहीं होने दिया जाता। जो सफल होते हैं वो अगले चरण में रूक जाते हैं । जब किसी योग्य उम्मीदवार के पास डिग्री है तो उसके विषयानुकूल उससे प्रश्न क्योँ नहीं होते परीक्षा मैं इस पर कार्यान्वयन होना चाहिए। परीक्षाएं किसी उम्मीदवार की उसके अपने क्षेत्र के विषय पर कितनी समझ और निपुणता है इस पर आधारित होनी चाहिए।

18110
UMANG AGRAWAL 1 hour 25 minutes ago

बस सुधारना है इस व्यवस्था को हमें। सबसे पहले देश मैं परीक्षाएं कम होकर कौशल परिक्षण ज्यादा होने चाहिए। क्योंकि परीक्षा आज वो व्यवसाय बन गयी हैं जिसमें न सरकारी तंत्र का लाभ हो रहा है और न ही उम्मीदवारों का। इसलिए अप्रेंटिसशिप एक बेहतर विकल्प है। क्योंकि उदाहरण के तौर पर लें तो बैंकिंग सेक्टर मैं स्टाफ की भारी किल्लत है आज देश मैं जबकि हर साल निकलने वाली नौकरियों मैं लाखों युवा भाग लेते हैं।

18110
UMANG AGRAWAL 1 hour 26 minutes ago

आज एक तरफ जहाँ बैंकिंग और कम्युनिकेशन , हेल्थ और दूसरे तमाम सेक्टर मानव संसाधनों की कमी से त्रस्त है तो वहीँ २४ साल से ऊपर और ४० साल से काम आयु वर्ग के लोगों की बेरोजगारी की संख्या निरंतर बाद रही है। क्योंकि ये वर्ग सरकारी नौकरी का सपना लिए पहले १० से १२ साल तरह तरह की परीक्षाओं मैं ही गवां देता है और इसके बाद प्राइवेट नौकरी के भी दरवाजे इस वर्ग के लिए बंद हो जाते हैं। अनुभव को सभी जगह प्राथमिकता दी जाती है लेकिन जब बारी अनुभव दिलाने की आती है सभी पीछे दिखाई देते हैं।

18110
UMANG AGRAWAL 1 hour 27 minutes ago

इसलिए आज देश में अप्रेंटिसशिप एक्ट में एक प्रभावकारी कदम की आवश्यकता है जिसमें सबसे पहले अप्रेंटिसशिप की आयु सीमा मैं वृद्धि कर इसे 30 वर्ष तक के उम्मीदवारों के लिए भी सामान रूप से खोला जाना चाहिए। प्रशिक्षण पूरा होने पर उन्हें किसी भी क्षेत्र मैं निश्चित तौर पर रोजगार मुहया कराने की सुविधा दी जाये और वो भी उनके प्रशिक्षण और योग्यता के आधार पर।

18110
UMANG AGRAWAL 1 hour 53 minutes ago

मेरे पास योजना की विफलता के प्रमाण हैं की मैंने दो अलग सेक्टर्स से कोर्स किये और वो किसी काम नहीं आये मेरे। आज कहीं लोकल मैं जब लोग सर्टिफिकेट देख ये कहते हैं की ऐसा सर्टिफिकेट किस काम का जिसने पढाई कराकर बस युहीं छोड़ दिया तो बहुत दुःख होता है। जबकि दोष मेरा नहीं इसमें क्योंकि मेरे पास संसाधन नहीं की अपना सुविधा केंद्र खोल सकता।

18110
UMANG AGRAWAL 1 hour 53 minutes ago

हर उम्मीदवार इतना सशक्त नहीं हो सकता कि वो स्वयं का जीएसटी सुविधा केंद्र खोल पाए। आज भी csc की तकनिकी शिक्षा केंद्रों की कमी है। ये तो सिर्फ मैंने अपने कार्यक्षेत्र वाणिज्य से रिलेटेड रोजगार की समस्या पर बात की लेकिन ये समस्या आज हर क्षेत्र में बनी हुई है। जिस तरह पहले डिग्रियां लेकर भी नौकरी नहीं मिल सकती थी उसी तरह सर्कार के रोजगार परक आदर्श्वादी कार्यक्रम को निचले प्रशासन तंत्र ने ही कमजोर बनाया है। PMKVY आज यदि किसी भी लेवल पर कमजोर योजना रही है तो इसका दोषी अस्समेंट कंपनी और TPसेंटर है

18110
UMANG AGRAWAL 1 hour 55 minutes ago

आज देश की सर्कार ने हमें अपनी बात रखने के लिए माय जीओवी जैसा अभिव्यक्ति का साझा मंच दिया है , नौकरी के लिए एनसीएस पोर्टल और कौशल विकास के लिए PMKVY योजना भी दी लेकिन जहां तक मेरा अपना अनुभव आधारित विचार है और यह मेरा निजी विचार है कि सर्कार के सभी प्रयास सार्थक तो रहे हैं लेकिन अपनी पूर्णता पर नहीं पहुंच सके हैं जैसे यदि किसी PMKVY के जीएसटी एकाउंट्स अस्सिस्टेंट के सर्टिफाइड उम्मीदवार को जीएसटी कौंसिल मैं भले ही संविदा पर मिलती उसेकिसी प्राइवेट या सेमि गवर्नमेंटसेक्टरमे नौकरी मिलनी चाहिए थी ।

8340
Navdeep Singh 2 hours 36 minutes ago

First of all As a point of view from access to justice This scheme should be for All . and if not possible then must for O.B.C .. And tie up it with the skilled policy we have and also aware to every corner of our mother land

56050
Rajesh Madhav Mathkar 2 hours 47 minutes ago

All the important initiatives like Make in India , Atminarbgar Bharat, Skill India , Digital India should have co ordination among themselves & have a common platform to adress various issues around Apprenticeship & promote it.We can use our young talent very well in these initiatives & youth will get meaningful employment as well.