मौजूदा आभासी मुद्रा फ्रेमवर्क के लिए टिप्पणियां / सुझाव आमंत्रित

Comments/Suggestions Invited for the Existing Virtual Currencies Framework
Last Date Jun 01,2017 00:00 AM IST (GMT +5.30 Hrs)
प्रस्तुतियाँ समाप्त हो चुके

आभासी करेंसी का परिचालन जो डिजिटल/क्रिप्टो करेंसी के रूप में भी जाना ...

आभासी करेंसी का परिचालन जो डिजिटल/क्रिप्टो करेंसी के रूप में भी जाना जाता है, एक चिंता का विषय रहा है। इसे समय-समय पर विभिन्‍न मंचो पर भी अभिव्‍यक्‍त किया गया है। भारतीय रिजर्व बैंक ने दिनांक 24 दिसंबर, 2013 और 1 फरवरी, 2017 की अपनी प्रेस विज्ञप्‍तियों के जरिए बिटक्‍वाइन सहित आभासी करेंसी के उपयोगकर्ता, धारकों और व्यापारियों को इसके वित्‍तीय, प्रचालनात्‍मक, विधिक, ग्राहक सुरक्षा और सुरक्षा संबंधी उन संभावित जोखिमों के बारे में सतर्क कर दिया है।

मौजूदा ढांचे को जांचने के लिए आर्थिक कार्य विभाग, वित्‍त मंत्रालय ने 15 मार्च, 2017 को विशेष सचिव (आर्थिक कार्य) की अध्‍यक्षता में एक अंतर अनुशासनात्‍मक समिति गठित की है इसमें आर्थिक कार्य विभाग, वित्‍तीय सेवा विभाग, राजस्‍व विभाग (सीबीडीटी), गृह मंत्रालय, इलेक्‍ट्रानिक्‍स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारतीय रिजर्व बैंक, नीति आयोग और भारतीय स्‍टेट बैंक के प्रतिनिधि भी होंगे।

समिति (i) भारत और विश्‍व दोनों में आभासी करेंसी की वर्तमान स्‍थिति का पता लगाएगी (ii) आभासी मुद्रा को अधिशासित करने वाले मौजूदा वैश्‍विक विनियामक और विधिक ढांचे की जांच करेगी (iii) उपभोक्‍ता सुरक्षा, धन शोधन इत्‍यादि मुद्दों सहित ऐसी आभासी मुद्राओं से निपटने के लिए उपायों को सुझाएगी; और (iv) आभासी करेंसी से संबंधित किसी अन्‍य मामले की जांच कर सकेगी।

निम्‍नलिखित प्रश्‍नों पर जनता से 31 मई, 2017 तक बेवसाइट MyGov.in पर टिप्‍पणी या सुझाव मांगे जाते हैं।

क) क्‍या आभासी करेंसी को प्रतिबंधित, विनियमित अथवा निगरानी में रखा जाए?

ख) यदि आभासी करेंसी विनियमित की जाती है तो:
i) उपभोक्‍ता सुरक्षा को सुनिश्‍चित करने के लिए क्‍या उपाय किए जाने चाहिए?
ii) आभासी करेंसी को व्‍यवस्‍थित रूप में विकसित करने को बढ़ावा देने के लिए क्‍या उपाय किए जाने चाहिए?
iii) कौन से उपयुक्‍त संस्‍थान आभासी करेंसी का निरीक्षण/विनियमन करें?

ग) यदि आभासी करेंसी को विनियमित नहीं किया जाए तो:
i) प्रभावी स्‍वत: विनियामक तंत्र क्‍या होना चाहिए?
ii) इस परिदृश्‍य में उपभोक्‍ता सुरक्षा सुनिश्‍चित करने के लिए क्‍या उपाय अपनाए जाने चाहिए?

यह अनुरोध है कि टिप्‍पणियां तार्किक एवं संक्षिप्‍त हों।

विवरण देखें Hide Details
सभी टिप्पणियां देखें
रीसेट
3888 सबमिशन दिखा रहा है
300
Usha 2 साल 6 महीने पहले

Respected sir,
As per my knowledge virtual currency or Bitcoin is a Digital transaction of money. To make a Digital India each and every Indian people must know what is exactly it is. IT is very useful for small transaction as like mobile recharge , exchange your money in the form of Bitcoin (Virtual currency)etc.So according to my indian gov. should observe and watch and take some time as like 5-6 months and regulate it as like Japan gov. and also make KYC compulsory for each.

380
Kapil Rajput 2 साल 6 महीने पहले

Our Honorable P.M. MODI SIR,
..
Nothing is wrong in Bitcoin, it should be legalise in india NOT BAN, Due to some reasons.

1. GOVT can easily regulate every transaction of bitcoin bcz Every transaction is done through Bank Account (AS SEBI regulate TRADING OF SHARES.)

2. It could become new source of earning for our Govt by imposing TAX on every Transactions done through bitcoin wallet like Zebpay ( LIKE STT ON SHARES)

380
Kapil Rajput 2 साल 6 महीने पहले

Our Honorable P.M. MODI SIR,
..
Nothing is wrong in Bitcoin, it should be legalise in india NOT BAN, Due to some reasons.

1. GOVT can easily regulate every transaction of bitcoin bcz Every transaction is done through Bank Account (AS SEBI regulate TRADING OF SHARES.)

2. It could become new source of earning for our Govt by imposing TAX on every Transactions done through bitcoin wallet like Zebpay ( LIKE STT ON SHARES)

320
Nikhil Karkhanis 2 साल 6 महीने पहले

Let India not be left out of FinTech revolution that has taken place today in Japan and already in most of the developed countries. The FinTech revolution has already drafted the new direction of how Internet will work in future. Over the time, Internet has reached up to the common netizens of the world, more and more, in the form of Email, Browser, e-Commerce and thousands of more smartphone apps, without harming similar conventional systems such as postal system, libraries, shopping. Jai Hind!

320
Deepak verma 2 साल 6 महीने पहले

Shuru me China ne ise ban karne ki koshish ki thi, but jab wo kisi tarah se use band nahi kar paya tab china ne ise legal kar diya or ab China Bitcoins ka sabse bada vyapari hai. Pichle 5 sal me iski kimat $250 se $2500 ayi hai. Isse jyada return kahi nahi mil sakte. As per CNBC news Agle 10 sal me iski kimat $1lakh hogi. Plz legalize it.

320
Deepak Priyadarshi 2 साल 6 महीने पहले

Sir, Bitcoin virtual currency Ko manyta Milne chiye bhut se country is importance de rhi hai Japan ne kuch dino phale es se legal kiya
Hai,
Zeb pay jo indian company hai o pura KYC documents verify karwati hai,
Sir, samj se ban nhai lagni chiye bitcoin ek bhut Bari power hai,