मेरी सरकार: संक्षिप्त विवरण

यह मंच नागरिकों को सरकार से जुड़ने और सुशासन के लिए अपना योगदान प्रदान करने का अवसर प्रदान करता है।



माईगव को भारत सरकार के नागरिक सहभागिता मंच के रूप में स्थापित किया गया है जो नीति निर्माण हेतु नागरिकों के साथ जुड़ने के लिए कई सरकारी निकायों / मंत्रालयों के साथ मिलकर काम करता है और जनहित और कल्याण के मुद्दों / विषयों पर लोगों की राय व विचार लेता है।

माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा 26 जुलाई 2014 को इसकी शुरुआत के बाद से माईगव के 2.45 करोड़ से अधिक पंजीकृत उपयोगकर्ता हैं। लगभग सभी सरकारी विभाग अपने नागरिक सहभागिता कार्यक्रमों, नीति निर्माण के लिए परामर्श और विभिन्न सरकारी योजनाओं और कार्यक्रमों की जानकारी प्रसारित करने हेतु माईगव प्लेटफॉर्म का लाभ उठाते हैं। ट्विटर, फेसबुक, इंस्टाग्राम, यूट्यूब और लिंक्डइन पर माईगव @MyGovIndia यूजरनेम के साथ सोशल मीडिया पर सबसे सक्रिय प्रोफाइलों में से एक है। MyGov की कू, शेयरचैट, चिंगारी, रोपोसो, बोलो इंडिया और मित्रो जैसे कई भारतीय सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर उल्लेखनीय उपस्थिति है। माईगव ने इंटरनेट, मोबाइल ऐप, आईवीआरएस, एसएमएस और आउटबाउंड डायलिंग (ओबीडी) टेक्नालॉजी का इनोवेटिव तरीके से उपयोग करके चर्चा, कार्य, जनमत, सर्वेक्षण, ब्लॉग, वार्ता, शपथ, क्विज़ और ऑन-ग्राउंड गतिविधियों जैसी सहभागिता के कई तरीकों को अपनाया है।


माईगव ने हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, त्रिपुरा, छत्तीसगढ़, झारखंड, नागालैंड, उत्तराखंड, गोवा, तमिलनाडु , उत्तर प्रदेश , जम्मू & कश्मीर, कर्नाटक और गुजरात जैसे 18 राज्यों में राज्य संस्करण भी लांच किया है।

यह प्लेटफॉर्म, सहभागी शासन और तकनीकी कार्यान्वयन का एक महत्वपूर्ण माध्यम है।

MyGov डिजिटल इंडिया कॉर्पोरेशन का हिस्सा है, जो भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय में धारा 8 के तहत एक कंपनी है।

जन सहभागिता के मामले में माईगव को महत्वपूर्ण सफलता मिली है। प्रमुख राष्ट्रीय परियोजनाओं के Logo और टैगलाइन को माईगव के माध्यम से क्राउडसोर्स किया गया है। स्वच्छ भारत के लिए लोगो, राष्ट्रीय शिक्षा नीति के लिए लोगो, डिजिटल इंडिया अभियान के लिए लोगो आदि क्राउडसोर्स से जुड़ी कुछ उल्लेखनीय पहल हैं। माईगव ने समय-समय पर नागरिकों से नीतियों के ड्राफ्ट पर इनपुट भी मांगे हैं, जिनमें राष्ट्रीय शिक्षा नीति, डेटा सेंटर नीति, डेटा संरक्षण नीति, राष्ट्रीय बंदरगाह नीति, आईआईएम विधेयक आदि प्रमुख हैं। माईगव भी अक्सर मन की बात, वार्षिक बजट, परीक्षा पे चर्चा और ऐसी कई अन्य पहलों के लिए आइडिया आमंत्रित करता रहता है।

कोविड-19 से संबंधित प्रामाणिक, समझने में आसान और सटीक जानकारी का सोशल मीडिया पर प्रसार करने में माईगव स्वास्थ्य मंत्रालय का भी सहयोग कर रहा है। व्यवहार में बदलाव लाने, फेक न्यूज से निपटने और भ्रम को दूर करने के उद्देश्य से, माईगव ने कोविड से संबंधित सूचना प्रसार के लिए एक समर्पित पोर्टल भी बनाया है- https://www.mygov.in/covid-19 । माईगव ने हेल्पडेस्क नंबर 9013151515 के माध्यम से कोविड-19 और टीकाकरण से संबंधित जानकारी प्रसारित करने के लिए व्हाट्सऐप पर एक चैटबॉट भी बनाया है।

सूचना प्रौद्योगिकी (मध्यवर्ती संस्‍थानों के लिए दिशा-निर्देश और डिजिटल मीडिया आचार संहिता) नियम, 2021 के अनुपालन में माईगव द्वारा निम्नलिखित अधिकारियों को मुख्य अनुपालन अधिकारी, नोडल अधिकारी और शिकायत अधिकारी के रूप में अधिसूचित किया है:

अधिकारी नाम पदनाम ईमेल
मुख्य अनुपालन अधिकारी आकाश त्रिपाठी सीईओ माईगव compliance[dash]officer[at]mygov[dot]in
नोडल ऑफिसर शोभेंद्र बहादुर डायरेक्टर, माईगव nodalofficer[at]mygov[dot]in
शिकायत अधिकारी नीता टंडन शिकायत अधिकारी, माईगव grievance[at]mygov[dot]in

संचार के लिए पता
माईगव,
डिजिटल इंडिया कॉर्पोरेशन,
कमरा नंबर 3015,
इलेक्ट्रॉनिक्स निकेतन
6 सीजीओ कॉम्प्लेक्स,
लोधी रोड,
नई दिल्ली 110003

सूचना प्रौद्योगिकी (मध्यवर्ती संस्‍थानों के लिए दिशा-निर्देश और डिजिटल मीडिया आचार संहिता) नियम, 2021 के तहत शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया

उपर्युक्त नियमों के तहत किसी भी शिकायत को पूर्ण विवरण के साथ दायर किया जाना चाहिए, जिसमें यूआरएल, स्क्रीनशॉट और शिकायतकर्ता के संपर्क विवरण शामिल है ताकि माईगव नियमों के तहत निर्धारित समय सीमा के भीतर कार्य कर सके।

देखने के लिए यहां क्लिक करें (PDF- 1.8 MB)माईगव सोशल मीडिया कम्युनिकेशन स्ट्रैटेजी