#IndiaFightsCorona कोरोना वायरस

011-23978046 or 1075, ncov2019[at]gov[dot]in
MyGov ऐप डाउनलोड करेंऔर कोविड से संबंधित नवीनतम जानकारी पाएं
टीकाकरण पंजीकरणRegister with  Co-WinRegister with Aarogya Setuumang के साथ पंजीकरण करें
आखिरी अपडेट : 07 May 2021, 08:00 IST (GMT+5:30)

कोविड-19
टीकाकरण

16,49,73,058 लाभार्थियों का टीकाकरण हुआ
23,70,298 इससे पूर्व टीकाकरण हुआ

May 06, 2021 तक SARS-CoV-2 (कोविड-19)
की जांच की स्थिति

29,86,01,699May 06, 2021 तक कुल सैंपल की जांच की गई
18,26,490May 06, 2021 को कुल सैंपल की जांच हुई

COVID-19 डैशबोर्ड

कुल मामले
2,14,91,598
4,14,188
सक्रिय
(16.96%)
36,45,164
78,766
स्वस्थ हुए
(81.95%)
1,76,12,351
3,31,507
मृत्यु
(1.09%)
2,34,083
3,915
अंडमान और निकोबार 6,255
कुल मामले 6,255
सक्रिय 225
स्वस्थ हुए 5,958
मृत्यु 72
कुल टीके 1,08,829
आंध्र प्रदेश 12,28,186
कुल मामले 12,28,186
सक्रिय 1,82,329
स्वस्थ हुए 10,37,411
मृत्यु 8,446
कुल टीके 70,70,242
अरुणाचल प्रदेश 19,634
कुल मामले 19,634
सक्रिय 1,858
स्वस्थ हुए 17,717
मृत्यु 59
कुल टीके 2,66,969
असम 2,77,687
कुल मामले 2,77,687
सक्रिय 33,176
स्वस्थ हुए 2,42,980
मृत्यु 1,531
कुल टीके 28,27,561
बिहार 5,53,803
कुल मामले 5,53,803
सक्रिय 1,15,152
स्वस्थ हुए 4,35,574
मृत्यु 3,077
कुल टीके 75,38,326
चंडीगढ़ 47,552
कुल मामले 47,552
सक्रिय 8,420
स्वस्थ हुए 38,591
मृत्यु 541
कुल टीके 2,35,770
छत्तीसगढ़ 8,16,489
कुल मामले 8,16,489
सक्रिय 1,31,245
स्वस्थ हुए 6,75,294
मृत्यु 9,950
कुल टीके 57,66,859
दादरा और नागर हवेली और दमन और दीव 8,502
कुल मामले 8,502
सक्रिय 1,581
स्वस्थ हुए 6,917
मृत्यु 4
कुल टीके 1,00,282
दिल्ली 12,73,035
कुल मामले 12,73,035
सक्रिय 90,629
स्वस्थ हुए 11,64,008
मृत्यु 18,398
कुल टीके 36,87,783
गोवा 1,08,267
कुल मामले 1,08,267
सक्रिय 29,752
स्वस्थ हुए 77,014
मृत्यु 1,501
कुल टीके 3,79,322
गुजरात 6,45,972
कुल मामले 6,45,972
सक्रिय 1,47,525
स्वस्थ हुए 4,90,412
मृत्यु 8,035
कुल टीके 1,34,20,247
हरियाणा 5,73,815
कुल मामले 5,73,815
सक्रिय 1,15,842
स्वस्थ हुए 4,52,836
मृत्यु 5,137
कुल टीके 40,86,674
हिमाचल प्रदेश 1,18,729
कुल मामले 1,18,729
सक्रिय 27,756
स्वस्थ हुए 89,236
मृत्यु 1,737
कुल टीके 19,89,691
जम्मू और कश्मीर 2,01,511
कुल मामले 2,01,511
सक्रिय 41,666
स्वस्थ हुए 1,57,283
मृत्यु 2,562
कुल टीके 25,96,453
झारखंड 2,70,089
कुल मामले 2,70,089
सक्रिय 60,633
स्वस्थ हुए 2,05,977
मृत्यु 3,479
कुल टीके 32,24,368
कर्नाटक 17,90,104
कुल मामले 17,90,104
सक्रिय 5,17,095
स्वस्थ हुए 12,55,797
मृत्यु 17,212
कुल टीके 1,02,52,400
केरल 17,86,396
कुल मामले 17,86,396
सक्रिय 3,91,253
स्वस्थ हुए 13,89,515
मृत्यु 5,628
कुल टीके 76,95,877
लद्दाख 14,909
कुल मामले 14,909
सक्रिय 1,432
स्वस्थ हुए 13,326
मृत्यु 151
कुल टीके 1,17,110
लक्षद्वीप 3,528
कुल मामले 3,528
सक्रिय 1,146
स्वस्थ हुए 2,374
मृत्यु 8
कुल टीके 24,946
महाराष्ट्र 49,42,736
कुल मामले 49,42,736
सक्रिय 6,41,281
स्वस्थ हुए 42,27,940
मृत्यु 73,515
कुल टीके 1,72,43,457
मणिपुर 33,733
कुल मामले 33,733
सक्रिय 2,991
स्वस्थ हुए 30,295
मृत्यु 447
कुल टीके 3,13,874
मेघालय 18,630
कुल मामले 18,630
सक्रिय 2,351
स्वस्थ हुए 16,086
मृत्यु 193
कुल टीके 3,29,374
मिजोरम 7,147
कुल मामले 7,147
सक्रिय 1,779
स्वस्थ हुए 5,351
मृत्यु 17
कुल टीके 2,75,179
मध्य प्रदेश 6,37,406
कुल मामले 6,37,406
सक्रिय 88,614
स्वस्थ हुए 5,42,632
मृत्यु 6,160
कुल टीके 84,62,476
नागालैंड 15,271
कुल मामले 15,271
सक्रिय 2,245
स्वस्थ हुए 12,905
मृत्यु 121
कुल टीके 2,15,703
उड़ीसा 5,00,162
कुल मामले 5,00,162
सक्रिय 74,784
स्वस्थ हुए 4,23,257
मृत्यु 2,121
कुल टीके 60,17,415
पुडुचेरी 66,627
कुल मामले 66,627
सक्रिय 12,430
स्वस्थ हुए 53,296
मृत्यु 901
कुल टीके 2,09,894
पंजाब 4,16,350
कुल मामले 4,16,350
सक्रिय 66,568
स्वस्थ हुए 3,39,803
मृत्यु 9,979
कुल टीके 37,05,260
राजस्थान 7,02,568
कुल मामले 7,02,568
सक्रिय 1,98,010
स्वस्थ हुए 4,99,376
मृत्यु 5,182
कुल टीके 1,37,00,772
सिक्किम 9,183
कुल मामले 9,183
सक्रिय 2,256
स्वस्थ हुए 6,769
मृत्यु 158
कुल टीके 2,14,717
तमिलनाडु 12,97,500
कुल मामले 12,97,500
सक्रिय 1,31,468
स्वस्थ हुए 11,51,058
मृत्यु 14,974
कुल टीके 63,36,452
तेलंगाना 4,81,640
कुल मामले 4,81,640
सक्रिय 73,851
स्वस्थ हुए 4,05,164
मृत्यु 2,625
कुल टीके 50,37,803
त्रिपुरा 36,849
कुल मामले 36,849
सक्रिय 2,292
स्वस्थ हुए 34,153
मृत्यु 404
कुल टीके 13,47,904
उत्तर प्रदेश 14,25,916
कुल मामले 14,25,916
सक्रिय 2,59,844
स्वस्थ हुए 11,51,571
मृत्यु 14,501
कुल टीके 1,33,30,583
उत्तराखंड 2,20,351
कुल मामले 2,20,351
सक्रिय 62,911
स्वस्थ हुए 1,54,147
मृत्यु 3,293
कुल टीके 22,41,465
पश्चिम बंगाल 9,35,066
कुल मामले 9,35,066
सक्रिय 1,22,774
स्वस्थ हुए 8,00,328
मृत्यु 11,964
कुल टीके 1,15,59,879

COVID-19 राज्यवार टीकाकरण

COVID-19 राज्यवार विवरण

हेल्पलाइन नंबर

राष्ट्रीय हेल्पलाइन नंबर: 011-23978046, 1075 (टोल फ्री)

  • अंडमान और निकोबार : 03192-232102
  • आंध्र प्रदेश : 104, 8297104104
  • अरुणाचल प्रदेश : 104, 0360-2292777, 0360-2292774, 0360-2292775
  • असम : 104
  • बिहार : 104
  • चंडीगढ़ : 9779558282
  • छत्तीसगढ़ : 104, 0771-2235091
  • दादरा और नागर हवेली और दमन और दीव : 104
  • दिल्ली : 011-22307145, 1800-111-747, 8800007722
  • गोवा : 104
  • गुजरात : 104, 079-23250818, 079-23251900
  • हरियाणा : 8558893911
  • हिमाचल प्रदेश : 104
  • जम्मू और कश्मीर : 0191-2520982, 0194-2440283
  • झारखंड : 104
  • कर्नाटक : 104, 1075, 080-46848600, 080-66692000, 9745697456, 080-1070
  • केरल : 0471-2552056
  • लद्दाख : 0198-2256462
  • लक्षद्वीप : 104
  • महाराष्ट्र : 020-26127394
  • मणिपुर : 0385-2411668, 1800-345-3818
  • मेघालय : 108, 1070
  • मिजोरम : 102
  • मध्य प्रदेश : 104
  • नागालैंड : 7005539653, 1800-345-0019
  • उड़ीसा : 9439994859
  • पुडुचेरी : 104
  • पंजाब : 104
  • राजस्थान : 104, 108
  • सिक्किम : 104
  • तमिलनाडु : 044-29510500
  • तेलंगाना : 104
  • त्रिपुरा : 112, 0381-2315879, 8794534501
  • उत्तर प्रदेश : 1800-180-5145, 6389300137, 0522-4523000, 0522-2610145
  • उत्तराखंड : 104, 0135-2722100, 0135-2724506
  • पश्चिम बंगाल : 1800-313-444-222, 033-23412600

COVID-19 कोरोना वायरस की महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे से निपटने के लिए भारत सरकार सभी आवश्यक कदम उठा रही है। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा प्रदान की गई जानकारी और सलाह को सावधानी व सही तरीके से पालन कर वायरस के स्थानीय प्रसार को रोका जा सकता है।

कोरोना वायरस से जुड़ी जानकारी

आखिरी अपडेट May 07, 2121- 13:30 hrs

सामान्य प्रश्न - Covid -19 वैक्सीन के बारे में

A. रजिस्ट्रेशन

1. कोविड-19 टीकाकरण के लिए मैं रजिस्ट्रेशन कहां कर सकता हूं?
आप www.cowin.gov.in लिंक के माध्यम से कोविनपोर्टल पर लॉग इन कर सकते हैं और कोविड-19 टीकाकरण के लिए ‘रजिस्टर/साइन इन योरसेल्फ’ पर क्लिक करें।
2. क्या कोई ऐसा ऐप है जिसे टीकाकरण हेतु रजिस्टर करने के लिए इंस्टॉल करना होगा?
भारत में टीकाकरण के रजिस्ट्रेशन के लिए आरोग्य सेतु के अलावा कोई भी अधिकृत ऐप नहीं मौजूद है। आपको कोविनपोर्टल के माध्यम से लॉग इन करना होगा। वैकल्पिक रुप से आप आरोग्य सेतु ऐप के माध्यम से भी रजिस्टर कर सकते हैं।
3. कोविनपोर्टल पर टीकाकरण के लिए कौन से आयु समूह रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं?
18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी नागरिक टीकाकरण के लिए रजिस्टर कर सकते हैं।
4. क्या कोविड-19 टीकाकरण के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन अनिवार्य है?
टीकाकरण केंद्र प्रतिदिन सीमित संख्या में रजिस्ट्रेशनस्लॉट उपलब्ध कराते हैं। 45 वर्ष या उससे अधिक उम्र के नागरिक टीकाकरण केंद्रों पर ऑनलाइन या वॉक-इन अपॉइंटमेंटशेड्यूल कर सकते हैं। हालांकि, 18-44 वर्ष के नागरिकों को टीकाकऱण केंद्र पर जाने से पहले अनिवार्य रुप से अपना रजिस्ट्रेशन तथा अपॉइंटमेंटशेड्यूल करना होगा। सामान्य तौर पर सभी नागरिकों को भीड़ मुक्त अनुभव के लिए टीकाकरण केंद्र पर जाने से पहले खुद को रजिस्टर करने तथा अपॉइंटमेंटशेड्यूल करने की सलाह दी जाती है।
5. एक ही मोबाइल नंबर से कोविनपोर्टल पर कितने लोग रजिस्टर कर सकते हैं?
एक ही मोबाइल नंबर से अधिकतम 4 लोग टीकाकरण के लिए रजिस्टर कर सकते हैं।
6. जिन नागरिकों के पास स्मार्ट फोन या कंप्यूटर नहीं उपलब्ध है वे ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करेंगे?
एक ही मोबाइन नंबर से अधिकतम 4 लोग रजिस्टर कर सकते हैं। नागरिक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए दोस्तों या परिवार से मदद ले सकते हैं।
7. क्या मैं बिना आधार कार्ड के टीकाकरण के लिए रजिस्टर कर सकता हूं?
हां, आप कोविनपोर्टल पर निम्न पहचान पत्र के माध्यम से रजिस्टर कर सकते हैं: a. आधार कार्ड b. ड्राइविंग लाइसेंस c. पैन कार्ड d. पासपोर्ट e. पेंशन पासबुक f. एनपीआरस्मार्ट कार्ड g. वोटर आईटी (EPIC)
8. क्या रजिस्ट्रेशन के लिए कोई शुल्क भी देय होगा?
नहीं। रजिस्ट्रेशन के लिए कोई शुल्क नहीं है।

B. अपॉइंटमेंटशेड्यूल करना

1. क्या मैं टीकाकरण के लिए अपॉइंटमेंटकोविनपोर्टल के माध्यम से बुक कर सकता हूं?
हां, आप अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर के माध्यम से कोविनपोर्टल पर लॉग इन करके टीकाकरण के लिए अपॉइंटमेंट बुक कर सकते हैं। सिस्टम वह टीकाकरण केंद्र प्रदर्शित करेगा जो नागरिक द्वारा रजिस्ट्रेशनपोर्टल पर डाले गए उम्र के अनुसार टीकाकरण की अनुमति प्रदान करते हैं।
2. एक नागरिक यदि 45 वर्ष या उससे अधिक उम्र का है और दूसरा 18 या उससे अधिक उम्र का तो इसके लिए क्या विकल्प हैं?
यदि एक नागरिक की उम्र 45 या उससे अधिक उम्र है और दूसरे नागरिक की उम्र 18 से 44 वर्ष है और दोनों एक साथ अपॉइंटमेंट चाहते हैं तो केवल प्राइवेट पेडटीकाकरण केंद्र या राज्य की नीति के अनुसार टीकाकरण केंद्र ही उपलब्ध होंगे। हालांकि यह भी हो सकता है कि कुछ अस्पताल जो 45 वर्ष या उससे अधिक उम्र के नागरिकों का टीकाकरण कर रहे हैं, वे कम उम्र के नागरिकों को अपॉइंटमेंट न दें। इस दशा में आपको एक-एक करके बुकिंग करना होगा।
3. क्या मैं यह जान सकता हूं कि टीकाकरण केंद्र पर कौन सी वैक्सीन लगाई जा रही है?
हां, प्राइवेट अस्पतालों में टीकाकरण के लिए अपॉइंटमेंटशेड्यूल करते समय सिस्टम में आपको केंद्र के नाम के साथ कौन सी वैक्सीन लगाई जाएगी यह भी पता चलेगा। सरकारी अस्पतालों में वैक्सीन का नाम नहीं भी पता चल सकता है।
4. क्या मैं अपॉइंटमेंटस्लिपडाउनलोड कर सकता/सकती हूं?
हां, अपॉइंटमेंटशेड्यूल होने के बाद अपॉइंटमेंटस्लिपडाउनलोड किया जा सकता है।
5. मुझे निकटतमटीकाकरण केंद्र की जानकारी कैसे मिलेगी?
आप पिनकोड के माध्यम से या अपना राज्य तथा जिला चुनकर कोविनपोर्टल (या आरोग्य सेतु ऐप) पर अपने निकटतमटीकाकरण केंद्र खोज सकते हैं।
6. यदि मैं अपने अपॉइंटमेंट के दिन नहीं जा सकता हूं तब क्या होगा? क्या मैं अपना अपॉइंटमेंटरिशेड्यूल कर सकता हूं?
अपॉइंटमेंट को किसी भी समय रिशेड्यूल किया जा सकता है। यदि आप टीकाकरण के लिए अपॉइंटमेंट के दिन नहीं जा सकते हैं तो आप‘रिशेड्यूल’ टैब पर क्लिक करके अपना अपॉइंटमेंटरिशेड्यूल कर सकते हैं।
7. क्या मेरे पास अपॉइंटमेंट रद्द करने का विकल्प है?
हां, आप पहले से शेड्यूल किए गए अपॉइंटमेंट को कैंसल कर सकते हैं। आप अपॉइंटमेंट को रिशेड्यूल भी कर सकते हैं औऱ कोई अन्य दिन या टाइम स्लॉट अपने सुविधानुसार चुन सकते हैं।
8. मुझे टीकाकरण के लिए दिन तथा समय कहां से मालूम होगा?
एक बार अपॉइंटमेंट तय होने के बाद आपको अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर अपॉइंटमेंट के लिए चुने गए टीकाकरण केंद्र, दिन तथा समय का एसएमएस प्राप्त होगा। आप अपॉइंटमेंटस्लिप भी डाउनलोड कर सकते हैं या इसे अपने स्मार्ट फोन में रख सकते हैं।
9. क्या बिना अपॉइंटमेंट के मेरा टीकाकरण संभव है?
45 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिक अपना अपॉइंटमेंट ऑनलाइन शेड्यूल कर सकते हैं या फिर टीकाकऱण केंद्र पर वॉक इन भी कर सकते हैं। 18-44 वर्ष के नागरिकों के लिए टीकाकरण से पहले रजिस्टर करना तथा अपॉइंटमेंटशेड्यूल करना अनिवार्य है।

C. दूसरे डोज का निर्धारण

1. मुझे टीकाकरण की दूसरी डोज कब लेनी चाहिए?
हां, इस बात की सलाह दी जाती है कि टीकाकरण के पूरे लाभ के लिए वैक्सीन की दोनों डोज ली जाए। दोनों डोज एक ही वैक्सीन की होनी चाहिए।
2. मुझे टीकाकरण की दूसरी डोज कब लेनी चाहिए?
यह सलाह दी जाती है कि कोवैक्सीन की दूसरी डोज, पहली डोज के 4 से 6 सप्ताह के अंतराल पर ली जानी चाहिए। कोविशील्ड के लिए यह अंतराल 4 से 8 सप्ताह करने की सलाह दी जाती है, हालांकि 6-8 सप्ताह के अंतराल से सुरक्षा बढ़ जाती है। आप अपने सुविधा के अनुसार दूसरे डोज की दिन चुन सकते हैं।
3. क्या सभी टीकाकरण केंद्रों पर टीकाकरण मुफ्त है?
नहीं। वर्तमान में सरकारी अस्पतालों में टीकाकरण मुफ्त है तथा 45 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिकों के लिए प्राइवेट अस्पतालों में 250 रुपये का शुल्क देय है। 1 मई से 45 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिकों के लिए सरकारी सुविधाओं में टीकाकरण मुफ्त होगा। 18 से 44 वर्ष के नागरिकों के लिए भुगतान की नीति की घोषणा राज्य करेगी। टीकाकरण के लिए प्राइवेट सुविधाओं पर शुल्क देय होगा, आप बुकिंग के समय प्रत्येक वैक्सीन का मूल्य देख सकते हैं।
4. अगर मुझे ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन से संबंधित कोई समस्या है तो मैं किसे संपर्क कर सकता हूं?
आप कोविड-19 टीकाकरण तथा कोविनसॉफ्टवेयर संबंधी जानकारी तथा गाइडेंस के लिए राष्ट्रीय हेल्पलाइन नंबर‘1075’ पर संपर्क कर सकते हैं।

D. टीकाकरण

1. क्या सभी टीकाकरण केंद्रों पर टीकाकरण मुफ्त है?
नहीं। वर्तमान में सरकारी अस्पतालों में टीकाकरण मुफ्त है तथा 45 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिकों के लिए प्राइवेट अस्पतालों में 250 रुपये का शुल्क देय है। 1 मई से 45 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिकों के लिए सरकारी सुविधाओं में मुफ्त टीकाकरण जारी रहेग । 18 से 44 वर्ष के नागरिकों के लिए भुगतान की नीति की घोषणा राज्य करेगी। टीकाकरण के लिए प्राइवेट सुविधाओं पर शुल्क देय होगा, आप बुकिंग के समय प्रत्येक वैक्सीन का मूल्य देख सकते हैं।
2. क्या मैं वैक्सीन का मूल्य देख सकता हूं?
हां। अपॉइंटमेंट के समय सिस्टमटीकाकरण केंद्र के नाम के नीचे टीके की कीमत दर्शाया जाएगा।
3. क्या मैं वैक्सीन का मूल्य देख सकता हूं?
सिस्टमअपॉइंटमेंट के निर्धारण के समय प्रत्येक टीकाकरण केंद्र में लगाए जा रहे वैक्सीन का नाम दिखाएगी। नागरिक अपनी पसंद के अनुसार टीकाकरण केंद्र चुन सकते हैं। हालांकि सरकारी सुविधाओं में चुनने की सुविधा नहीं होगी।
4. टीकाकरण के दूसरे डोज के समय मुझे क्या सावधानियां बरतनी चाहिए?
टीकाकरण केंद्रों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है कि दूसरी डोज प्राप्त करने वाले नागरिकों को यह सुनिश्चित करना होगा कि उन्हें पहली डोज भी उसी वैक्सीन की दी गई है तथा पहली डोज को दूसरी डोज से 28 दिन पहले दिया गया हो। आप टीकाकरण करने वाले कर्मी के साथ पहले डोज की तारीख शेयर करनी चाहिए। आपको पहली डोज के समय जारी किए गए वैक्सीन प्रमाणपत्र को ले जाना चाहिए।
5. क्या मैं किसी दूसरे राज्य/जिले में वैक्सीन की दूसरी डोज लगवा सकता हूं?
हां, आप किसी भी राज्य/जिले में टीकाकरण करवा सकते हैं। इसके लिए एकमात्र शर्त यही है कि आप उसी केंद्र पर टीकाकरण कराएंगे जो वही वैक्सीन लगा रहा है जो आपने पहली डोज में ली थी।
6. टीकाकरण के लिए मुझे कौन से डॉक्यूमेंट अपने साथ ले जाना चाहिए?
आपको अपने साथ कोविनपोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करते समय इस्तेमाल किए गए पहचान पत्र तथा अपने अपॉइंटमेंटस्लिप की प्रिंटआउट/स्क्रिनशॉट लेकर जाना होगा।
7. मैंने कोविनपोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन कराया है लेकिन मैं अभी बुकिंग नहीं करा पा रहा हूं क्यों मुझे अपने लोकेशन के पास कोई टीकाकरण केंद्र नहीं दिख रहा है?मुझे क्या करना चाहिए?
हां यह संभव है कि आपके आस-पास किसी भी केंद्र ने अपने टीकाकरण कार्यक्रम को अभी तक पब्लिश न किया हो। आप कुछ समय तक इंतजार कर सकते हैं, जब कि आपके आस-पास टीकाकरण केंद्र सक्रिय न हो जाएं और अपनी सुविधाएं शुरु करें।

E. टीकाकरण प्रमाण पत्र

1. मुझे टीकाकरण प्रमाणपत्र की आवश्यकता क्यों है?
सरकार द्वारा जारी किया गया कोविडटीकाकरण प्रमाणपत्र (CVC) मेंलाभार्थियों को दी गई वैक्सीन और टीकाकरण की आगामी तिथि का जिक्र होता है। यह नागरिकों को इस बात का प्रमाण भी प्रदान करता है कि उनका टीकाकरण हो चुका है, विशेषकर यात्रा के लिए आवश्यक होने पर। टीकाकरण न सिर्फ लोगों को बीमारी से बचाता है बल्कि वायरस फैलने के खतरे को भी कम करता है। इसलिए भविष्य में कुछ सामाजिक गतिविधियों तथा अंतर्राष्ट्रीय यात्रा के लिए इसकी आवश्यकता हो सकती है। इसलिए कोविन पर प्रमाणपत्र का बिल्ट-इन फीचर है, जिसे कोविनपोर्टल पर उपलब्ध जानकारी के आधार डिजिटली सत्यापित किया जा सकता है।
2. टीकाकरण प्रमाण पत्र प्रदान करने की जिम्मेदारी किसकी है?
आपके प्रमाणपत्र को जेनेरेट करने तथा इसकी एक मुद्रित प्रति प्रदान की जिम्मेदारी टीकाकरण केंद्र की है। कृपया टीकाकरण केंद्र से प्रमाणपत्र अवश्य ले लें। प्राइवेट अस्पतालों के टीकाकरण शुल्क में ही मुद्रित प्रति प्रदान करने का शुल्क भी शामिल है।
3. मैं टीकाकरण प्रमाणपत्र कहां से डाउनलोड कर सकता हूं?
आप टीकाकरण प्रमाणपत्र कोविनपोर्टल (cowin.gov.in) या आरोग्य सेतु ऐप या डिजी-लॉकर का के जरिए आसान तरीके से डाउनलोड किया जा सकत है। आप रजिस्ट्रेशन के समय उपयोग किए गए मोबाइल नंबर के जरिए भी इसे प्राप्त कर सकते हैं।

F. दुष्प्रभाव की रिपोर्टिंग

1. टीकाकरण से होने वाले दुष्प्रभाव की दशा में किससे संपर्क करना होगा?
आप निम्न में से किसी से भी संपर्क कर सकते हैं: a. हेल्पलाइन नंबर: +91-11-23978046 (टोलफ्री- 1075) b. टेक्निकलहेल्पलाइननंबर: 0120-4473222 c. हेल्पलाइनईमेल आईडी: nvoc2019@gov.in आप सलाह के लिए उस टीकाकरण केंद्र पर भी संपर्क कर सकते हैं जहां से आपने टीकाकरण कराया है।

पॉडकास्ट

मिथक की सच्चाई/तथ्य देखें

#MyGovMythsBusters #MyGovFactCheck

सभी उम्र के लोग कोरोनावायरस से संक्रमित हो सकते हैं। बुजुर्ग, और पहले से बीमार लोग (जैसे कि अस्थमा, डायबिटीज़, हृदय रोग) इस वायरस के संक्रमण से गंभीर रूप से बीमारी से ग्रस्त हो जाते हैं

यह कैसे फैलता है

रोकथाम

वीडियो

मिथक की सच्चाई । कोरोना के लेकर हर ओर कई अफवाहें फैली है। ये है उसकी सच्चाई।

  • ठंड का मौसम और बर्फ कोरोनावायरस को नहीं मार सकते।
  • कोरोनो वायरस को मारने में हैंड ड्रायर प्रभावी नहीं हैं
  • ऐसा कोई प्रमाण नहीं है कि नियमित रूप से सलाइन से नाक धोने पर कोरोनावायरस के संक्रमण से बचाव होता है।
  • गर्म और आर्द्र जलवायु वाले क्षेत्रों में कोरोनावायरस का संक्रमण हो सकता है।
  • अल्ट्रावायलेट का उपयोग त्वचा को कीटाणुमुक्त बनाने के लिए नहीं किया जाना चाहिए । यह त्वचा में जलन पैदा कर सकता है।
  • लहसुन में कुछ रोगाणुरोधी गुण हो सकते हैं। हालांकि, इस बात का कोई प्रमाण नहीं है कि लहसुन खाने से लोग वायरस के संक्रमण से बच जाते हैं।
  • मच्छर के काटने से कोरोना वायरस नहीं फैल सकता है।
  • थर्मल स्कैनर ऐसे लोगों की पहचान कर सकते हैं जिन्हें बुखार है। लेकिन वे कोरोना वायरस के संक्रमित लोगों का पता नहीं लगा सकते।
  • एंटीबायोटिक्स वायरस के खिलाफ काम नहीं करते हैं, एंटीबायोटिक्स केवल बैक्टीरिया से हुए संक्रमण को दूर करते हैं।
  • ऐसा कोई सबूत नहीं है कि कुत्ते या बिल्ली जैसे जानवर/ पालतू जानवर से कोरोना वायरस का संक्रमण फैल सकता है।
  • अल्कोहल या क्लोरीन का छिड़काव उन वायरस को मारने में मदद नहीं करेगा जो शरीर में प्रवेश कर चुके हैं। सिर्फ ऊपर से कीटाणुमुक्त रखने के लिए इसका उपयोग किया जा सकता है।
  • आज तक, कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने या इसके संक्रमण के इलाज के लिए कोई प्रामाणिक दवा उपलब्ध नहीं है।
  • गर्म स्नान से कोरोनावायरस के संक्रमण से बचाव होता है।
  • न्यूमोनिया के खिलाफ टीके, जैसे कि न्यूमोकोकल वैक्सीन और हीमोफिलस इन्फ्लुएंजा टाइप बी (एचआईबी) वैक्सीन, कोरोनावायरस से बचाव नहीं करते हैं।
नोट : कंटेंट का स्रोत विश्व स्वास्थ्य संगठन