#IndiaFightsCorona कोरोना वायरस

COVID-19 डैशबोर्ड

as on : 04 April 2020, 18:00 GMT+5:30
2784
सक्रिय मामले
212
मरीज ठीक हुए / देशांतर
75
मृत्यु के मामले
1
प्रवासी

COVID 19- कोरोना वायरस की महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे से निपटने के लिए भारत सरकार सभी आवश्यक कदम उठा रही है। देश की जनता के सक्रिय सहयोग से हम देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा प्रदान की गई जानकारी और सलाह को सावधानी व सही तरीके से पालन कर वायरस के स्थानीय प्रसार को रोका जा सकता है।

कोरोना वायरस से जुड़ी जानकारी

आखरी अपडेट Apr 04, 2020- 15:30 hrs
आखरी अपडेट Apr 04, 2020- 15:30 hrs

मिथक की सच्चाई कोरोना के लेकर हर ओर कई अफवाहें फैली है। ये है उसकी सच्चाई।

सभी उम्र के लोग कोरोनावायरस से संक्रमित हो सकते हैं। बुजुर्ग, और पहले से बीमार लोग (जैसे कि अस्थमा, डायबिटीज़, हृदय रोग) इस वायरस के संक्रमण से गंभीर रूप से बीमारी से ग्रस्त हो जाते हैं

वीडियो

यह कैसे फैलता है

रोकथाम

मिथक की सच्चाई कोरोना के लेकर हर ओर कई अफवाहें फैली है। ये है उसकी सच्चाई।

  • ठंड का मौसम और बर्फ कोरोनावायरस को नहीं मार सकते।
  • ठकोरोनो वायरस को मारने में हैंड ड्रायर प्रभावी नहीं हैं
  • ऐसा कोई प्रमाण नहीं है कि नियमित रूप से सलाइन से नाक धोने पर कोरोनावायरस के संक्रमण से बचाव होता है।
  • गर्म और आर्द्र जलवायु वाले क्षेत्रों में कोरोनावायरस का संक्रमण हो सकता है।
  • अल्ट्रावायलेट का उपयोग त्वचा को कीटाणुमुक्त बनाने के लिए नहीं किया जाना चाहिए । यह त्वचा में जलन पैदा कर सकता है।
  • लहसुन में कुछ रोगाणुरोधी गुण हो सकते हैं। हालांकि, इस बात का कोई प्रमाण नहीं है कि लहसुन खाने से लोग वायरस के संक्रमण से बच जाते हैं।
  • मच्छर के काटने से कोरोना वायरस नहीं फैल सकता है।
  • थर्मल स्कैनर ऐसे लोगों की पहचान कर सकते हैं जिन्हें बुखार है। लेकिन वे कोरोना वायरस के संक्रमित लोगों का पता नहीं लगा सकते।
  • एंटीबायोटिक्स वायरस के खिलाफ काम नहीं करते हैं, एंटीबायोटिक्स केवल बैक्टीरिया से हुए संक्रमण को दूर करते हैं।
  • ऐसा कोई सबूत नहीं है कि कुत्ते या बिल्ली जैसे जानवर/ पालतू जानवर से कोरोना वायरस का संक्रमण फैल सकता है।
  • अल्कोहल या क्लोरीन का छिड़काव उन वायरस को मारने में मदद नहीं करेगा जो शरीर में प्रवेश कर चुके हैं। सिर्फ ऊपर से कीटाणुमुक्त रखने के लिए इसका उपयोग किया जा सकता है।
  • आज तक, कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने या इसके संक्रमण के इलाज के लिए कोई प्रामाणिक दवा उपलब्ध नहीं है।
  • गर्म स्नान से कोरोनावायरस के संक्रमण से बचाव होता है।
  • न्यूमोनिया के खिलाफ टीके, जैसे कि न्यूमोकोकल वैक्सीन और हीमोफिलस इन्फ्लुएंजा टाइप बी (एचआईबी) वैक्सीन, कोरोनावायरस से बचाव नहीं करते हैं।
नोट : कंटेंट का स्रोत विश्व स्वास्थ्य संगठन