सरकारी नियमों को बदलने और नागरिकों के जीवन को आसान बनाने के लिए नियमों पर विचार

वर्तमान सरकार के महत्वपूर्ण प्रयासों में से एक है लोगों की जिंदगी को ...

See details Hide details

वर्तमान सरकार के महत्वपूर्ण प्रयासों में से एक है लोगों की जिंदगी को आसान बनाना। इसी दिशा में सुधार करने का प्रयास अब ये सरकार कर रही है। साधारण शब्दों में कहा जाए तो इसका मतलब है कि नागरिक और सरकारी इंटरफेस के बीच दैनिक दिनचर्या के मामले में, जितना संभव हो उतना निर्बाध हो और यथासंभव नागरिकों के अनुकूल बनाना। अन्य बातों के अलावा कई नियमों और विनियमों के सुधार किया है साथ ही कई तरह के ऐसे अनैतिकवाद नियमों को पूरी तरह से दूर करने वाले मामलों में सुधार किया जाए या फिर कई मामलों में स्पष्ट रूप से जो लोक-विरोधी हैं। उन्हें जनादेश , नागरिकों और सरकारों के बीच जीवन जीने की आसानी सुनिश्चित करने के लिए अनैतिक नियमों और प्रक्रियाओं को स्थगित करना।

उदाहरण के लिए, पहले के नियमों पर विचार करें तो परीक्षा से पहले एक दस्तावेज को मान्य करने के लिए राजपत्रित अधिकारियों के सत्यापन की मांग होती थी। वह नियम अब इतिहास है| नागरिकों पर भरोसा का जनादेश था और यही वजह है कि आत्म-प्रमाणन अब नया नियम बन गया है। गैर-राजपत्रित समूह डी, सी और बी सरकारी नौकरियों के अब साक्षात्कार को खत्म कर दिया गया है। कुल मिलाकर एक झटके में 'सिफारिशों' के पूरे उद्योग को बंद कर दिया गया है और केवल योग्यता आदर्श बन गई है।

ऐसे ही पुरानी व बीमार कल्पना वाली नियमों व प्रथाएं, जो लोगों के सामान्य दिन-प्रतिदिन के अनुभव को बाधित करती हैं?उन्हें दिन-प्रति दिन शासकीय मामलों में प्रक्रियाओं और सिस्टम को सरलीकृत किया जा सकता है या उसे दूर किया जा सकता है? ऐसे नियम और कानून जो उपयोगी सामाजिक उद्देश्यों की सेवा नहीं करते बल्कि केवल अनावश्यक लाल टेप और नौकरशाही का निर्माण करते हैं और उनको अब जाने की जरूरत है?

माईगॉव नागरिकों, नागरिक समाज के सदस्यों, पत्रकारों, छात्रों, शिक्षकों, पुलिस अधिकारियों, सरकारी कर्मचारियों, सांसदों, अकादमिक विशेषज्ञों, नौकरशाहों, सोशल मीडिया प्रभावकारियों, सोचो टैंकों और अन्य सभी इच्छुक लोगों से इस विषय पर उनके विचारों को जानने के लिए आमंत्रित करता है।

आप या तो नीचे टिप्पणी बॉक्स में लिखकर, या पीडीएफ दस्तावेज़ संलग्न करके या यूट्यूब वीडियो के माध्यम से अपनी राय सबमिट कर सकते हैं।

विचार सबमिट करने की अंतिम तिथि 30 जनवरी 2018 तक है

All Comments
Reset
Showing 4178 Submission(s)
Rahul verma's picture

Rahul verma 3 min 36 sec ago

First one is to make a proper road's in kanpur for easily live people,the control for accident's & save a time for working people. and to control traffic in city,the some people to take a not seriasily in all govt. Rule's

Anudeep Bhoopalam's picture

Anudeep Bhoopalam 6 min 55 sec ago

India should work on being the best country in road driving discipline. RTOs must be come up with strict requirements when issuing driving licenses. If this is implemented in the next 10 years we can see differences. And if someone's license is canceled they should reapply and take the dring exam once again.

Ramesh Parakkat's picture

Ramesh Parakkat 9 min 21 sec ago

Respected PM Sir, To be honest, what really came to my mind was about CSR initiative undertaken by corporates in India which can be more sustainable to nation building over long term for example design, contribution,even expertise in linking of rivers of India, example linking river Krishna to Cauvery, possibilities are many, pausible reasoning they probably say its Govts job.
De- Salination Plants for drinking water in water starved cities in across coastal belt could be a CSR initiative.

Anudeep Bhoopalam's picture

Anudeep Bhoopalam 10 min 17 sec ago

India should develop its own GIS system with details about the property owner; if the land is green land or wetland. Satellites must be capable of measuring the height of the building and automatically detect the number of floors. Also, detect the build-up area and calculate the free space requirements between two buildings. Our ISRO can develop this system and pan India this should be a one single database/system. This would reduce corruption in the real estate sector.

Srirani Thakur's picture

Srirani Thakur 10 min 41 sec ago

Respected sir,
The idea is to create a SWAT team that will help stop corruption in multiple areas as well as create employment to lot of youngsters and retirees. Due to the size limitation, I am not able to share the complete details but can send you the information if I can get a source to reach out to you.

Sincerely,
Srirani Thakur

Ravi kumar's picture

Ravi kumar 12 min 35 sec ago

Govt.is encouraging people to use toilets especially in rural areas but without water it is not possible.Firstly make arrangement for supply of water.In my village Hathal Salheri in distt.Rajouri a phe scheme has started 15 years ago ,lakhs of rupees has spent on the scheme but without benefitting anyone except officials from department.complete the schemes,projects timely.

Bani Parmar's picture

Bani Parmar 13 min 29 sec ago

I think one idea should be brought about and that is cycling tracks around the city for people who ride bikes to get around the city without fear of accidents. Also open clubs where they have olympic size swimming pools so children can make use of them and city or community competitions can be held. Also computer cafes where people can make use of computer if they don't have one. These are some of the improvements suggested to make life easier for citizens. Gardens are nice idea too.

SONU KUMAR RAY's picture

SONU KUMAR RAY 16 min 54 sec ago

Sir me india govt se kahna chahta hu ki aapne jo bank me minimum bilance kar dia hai bo garib ke uper ek bogh ban gaya hai ek garib aadmi ki itni zayada income nahi hai ki bo apna ghar maintenance kar sake to sir 2000 rupees bo bank me any rtime kaha se rakhega me v is se pareshan ho chuka hu mere account se kai baar paise kat lia jata hai minimum bilance ke lie islie sir me bahut pareshan hu please sir yahi meri ek reqest hai