#ItsMyDuty- मौलिक कर्तव्यों पर अपनी कहानियां साझा करें

Last Date Nov 26,2020 23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)

11 मौलिक कर्तव्यों पर आधारित अपनी कहानियां, वीडियो और आइडिया भेजें! ...

11 मौलिक कर्तव्यों पर आधारित अपनी कहानियां, वीडियो और आइडिया भेजें!

इस वर्ष 26 नवंबर, 2019 को भारतीय संविधान को अपनाने की 70 वीं वर्षगांठ के अवसर पर भारत सरकार ने भारतीय संविधान के अध्याय IV-A (अनुच्छेद 51A) में वर्णित मौलिक कर्तव्यों के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए एक अभियान की शुरुआत की है।

मौलिक कर्तव्य सभी नागरिकों के लिए दिशा-निर्देश हैं। मौलिक कर्तव्यों के कार्यान्वयन की जिम्मेदारी प्रत्येक नागरिक पर है। यद्यपि इसे कानूनी रूप से लागू नहीं किया जा सकता है, फिर भी इनका अनुपालन बेहद महत्वपूर्ण व अनिवार्य है। क्योंकि एक व्यक्ति के लिए जो कर्तव्य है वह किसी अन्य व्यक्ति का अधिकार है।

इन मौलिक कर्तव्यों का पालन करके और इसे मजबूत बना कर, हम, एक नागरिक के तौर पर अपने देश और अन्य नागरिकों के प्रति अपने कर्तव्यों को पूरा करने में एक सकारात्मक और प्रभावी भूमिका निभा सकते हैं और विश्व में अपने देश का नाम रौशन कर सकते हैं। न्याय विभाग के सहयोग से

MyGov आपको 11 मौलिक कर्तव्यों पर अपनी कहानियों, वीडियो या आइडिया साझा करने के लिए आमंत्रित करता है।
a. संविधान का पालन करें और उसके आदर्शों, संस्थाओं, राष्ट्र ध्वज और राष्ट्रगान का आदर करें।
b. स्वतंत्रता के लिए हमारे राष्ट्रीय आंदोलन को प्रेरित करने वाले उच्च आदर्शों को हृदय में संजोए रखें और उनका पालन करें।
c. भारत की प्रभुता, एकता और अखंडता की रक्षा करे और उसे अक्षुण्ण रखें।
d. देश की रक्षा करे और आह्वान किए जाने पर राष्ट्र की सेवा करें।
e. भारत के सभी लोगों में समरसता और समान भ्रातृत्व की भावना का निर्माण करे जो धर्म, भाषा और प्रदेश या वर्ग पर आधारित सभी भेदभाव से परे हो, ऐसी प्रथाओं का त्याग करे जो स्त्रियों के सम्मान के विरुद्ध है।
f. हमारी सामासिक संस्कृति की गौरवशाली परंपरा का महत्व समझे और उसका परिरक्षण करें।
g. प्राकृतिक पर्यावरण की, जिसके अंतर्गत वन, झील, नदी और वन्य जीव हैं, रक्षा करें और उसका संवर्धन करे तथा प्राणी मात्र के प्रति दया भाव रखें।
h.वैज्ञानिक दृष्टिकोण, मानववाद और ज्ञानार्जन तथा सुधार की भावना का विकास करें।
i. सार्वजनिक संपत्ति को सुरक्षित रखें और हिंसा से दूर रहें।
j. व्यक्तिगत और सामूहिक गतिविधियों के सभी क्षेत्रों में उत्कर्ष की ओर बढ़ने का सतत प्रयास करे, जिससे राष्ट्र निरंतर बढ़ते हुए प्रयत्न और उपलब्धि की नई उंचाइयों को छू ले।
k. यदि माता-पिता या संरक्षक हैं, छह वर्ष से चौदह वर्ष तक की आयु वाले अपने, यथास्थिति, बालक या प्रतिपाल्य के लिए शिक्षा के अवसर प्रदान करें।

तकनीकी पैमाने:
आप निम्न प्रारुपों में अपनी प्रविष्टियाँ साझा कर सकते हैं:
• जेपीजी / जेपीईजी
• पीडीएफ
• यूट्यूब यूआरएल

जमा करने की अंतिम तिथि 26 नवंबर 2020 है।

विवरण देखें Hide Details
सभी टिप्पणियां देखें
रीसेट
44065 सबमिशन दिखा रहा है
48630
Gopal NARASIMHAM KOTA 3 मिनट 54 सेकंड पहले

DEAR ALL,

FRANCE SUPPOSED TRANFER TECHNOLOGY AS PER RAFALE DEAL FOR IMPROVEMENT OF KAVERI ENGINE OF DRDO, IF THE DELAY WAS INEVITABLE DUE TO COVID19, IT IS OK WE HAVE TO BEAR WITH THE ODD SITUATION DEVELOPED DUE TO WORLD CRISES OF COVID19.

NECESSARY CLARIFICATION AND CONFIRMATION OF TECHNOLOGY TRASFER HAS TO BE INFORMED TO INDIA AS INDIAN DEVELOPMENT OF SCIENTIFIC RESEARCH DELAYED
CONTRACT TERMS HAVE TO BE RESPECTED BY BOTH BUT WHEN DELAYED ACTION UNEXPLAINED UNNECESSARY COMMUNICATION GAP ?

10460
Sudalai Muthu 1 घंटा 57 मिनट पहले

Early Childhood Care and Education (ECCE) concerns children from birth to age 8, from prenatal care to promoting a smooth transition to primary school. It includes both in-home and out-of-home settings, and can target either parents or children. The role of families in ECCE is paramount: parents are children’s first caregivers and educators.

10460
Sudalai Muthu 1 घंटा 57 मिनट पहले

Promoting the safety of journalists and combating impunity for those who seek to silence them are also core elements of UNESCO’s work to support freedom of expression. UNESCO is committed to advancing such freedom both offline and online, through the implementation of the UN Plan of Action on the Safety of Journalists.

10460
Sudalai Muthu 1 घंटा 57 मिनट पहले

Freedom of information, or the right to know, is an integral part of the fundamental right of freedom of expression. The UNESCO Memory of the World programme aims to identify, preserve and provide access to the world’s documentary heritage, raising awareness on the important role it plays in  people’s right to know.

10460
Sudalai Muthu 1 घंटा 57 मिनट पहले

UNESCO Bangkok coordinates the Coalition of Cities Against Discrimination in Asia and the Pacific(CADAP), which brings cities together to combat discrimination through concrete action plans. The long-term objective is to provide local authorities with an operational programme that facilitates the efficient implementation of policies that promote social inclusion and fully respect people’s human rights and fundamental freedoms in all arenas of public life.

10460
Sudalai Muthu 1 घंटा 57 मिनट पहले

Human Rights Day is observed every year on 10 December, celebrating the adoption of the Universal Declaration of Human Rights by the UN General Assembly in 1948. UNESCO promotes human rights and freedoms in Asia-Pacific across our broad mandate of education, culture, communication and information, natural sciences and social and human sciences.