#ItsMyDuty- मौलिक कर्तव्यों पर अपनी कहानियां साझा करें

Last Date Nov 26,2020 23:45 PM IST (GMT +5.30 Hrs)

11 मौलिक कर्तव्यों पर आधारित अपनी कहानियां, वीडियो और आइडिया भेजें! ...

11 मौलिक कर्तव्यों पर आधारित अपनी कहानियां, वीडियो और आइडिया भेजें!

इस वर्ष 26 नवंबर, 2019 को भारतीय संविधान को अपनाने की 70 वीं वर्षगांठ के अवसर पर भारत सरकार ने भारतीय संविधान के अध्याय IV-A (अनुच्छेद 51A) में वर्णित मौलिक कर्तव्यों के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए एक अभियान की शुरुआत की है।

मौलिक कर्तव्य सभी नागरिकों के लिए दिशा-निर्देश हैं। मौलिक कर्तव्यों के कार्यान्वयन की जिम्मेदारी प्रत्येक नागरिक पर है। यद्यपि इसे कानूनी रूप से लागू नहीं किया जा सकता है, फिर भी इनका अनुपालन बेहद महत्वपूर्ण व अनिवार्य है। क्योंकि एक व्यक्ति के लिए जो कर्तव्य है वह किसी अन्य व्यक्ति का अधिकार है।

इन मौलिक कर्तव्यों का पालन करके और इसे मजबूत बना कर, हम, एक नागरिक के तौर पर अपने देश और अन्य नागरिकों के प्रति अपने कर्तव्यों को पूरा करने में एक सकारात्मक और प्रभावी भूमिका निभा सकते हैं और विश्व में अपने देश का नाम रौशन कर सकते हैं। न्याय विभाग के सहयोग से

MyGov आपको 11 मौलिक कर्तव्यों पर अपनी कहानियों, वीडियो या आइडिया साझा करने के लिए आमंत्रित करता है।
a. संविधान का पालन करें और उसके आदर्शों, संस्थाओं, राष्ट्र ध्वज और राष्ट्रगान का आदर करें।
b. स्वतंत्रता के लिए हमारे राष्ट्रीय आंदोलन को प्रेरित करने वाले उच्च आदर्शों को हृदय में संजोए रखें और उनका पालन करें।
c. भारत की प्रभुता, एकता और अखंडता की रक्षा करे और उसे अक्षुण्ण रखें।
d. देश की रक्षा करे और आह्वान किए जाने पर राष्ट्र की सेवा करें।
e. भारत के सभी लोगों में समरसता और समान भ्रातृत्व की भावना का निर्माण करे जो धर्म, भाषा और प्रदेश या वर्ग पर आधारित सभी भेदभाव से परे हो, ऐसी प्रथाओं का त्याग करे जो स्त्रियों के सम्मान के विरुद्ध है।
f. हमारी सामासिक संस्कृति की गौरवशाली परंपरा का महत्व समझे और उसका परिरक्षण करें।
g. प्राकृतिक पर्यावरण की, जिसके अंतर्गत वन, झील, नदी और वन्य जीव हैं, रक्षा करें और उसका संवर्धन करे तथा प्राणी मात्र के प्रति दया भाव रखें।
h.वैज्ञानिक दृष्टिकोण, मानववाद और ज्ञानार्जन तथा सुधार की भावना का विकास करें।
i. सार्वजनिक संपत्ति को सुरक्षित रखें और हिंसा से दूर रहें।
j. व्यक्तिगत और सामूहिक गतिविधियों के सभी क्षेत्रों में उत्कर्ष की ओर बढ़ने का सतत प्रयास करे, जिससे राष्ट्र निरंतर बढ़ते हुए प्रयत्न और उपलब्धि की नई उंचाइयों को छू ले।
k. यदि माता-पिता या संरक्षक हैं, छह वर्ष से चौदह वर्ष तक की आयु वाले अपने, यथास्थिति, बालक या प्रतिपाल्य के लिए शिक्षा के अवसर प्रदान करें।

तकनीकी पैमाने:
आप निम्न प्रारुपों में अपनी प्रविष्टियाँ साझा कर सकते हैं:
• जेपीजी / जेपीईजी
• पीडीएफ
• यूट्यूब यूआरएल

जमा करने की अंतिम तिथि 26 नवंबर 2020 है।

विवरण देखें Hide Details
सभी टिप्पणियां देखें
रीसेट
26318 सबमिशन दिखा रहा है
2300
Subramanian Ramamoorthy 12 मिनट 36 सेकंड पहले

Honourable PM I would like to express my humble view on the subject of exams for undergraduate and post graduat
students .Now UGC have.ruled that the final exams for the above students shd definitely be conducted being mandatory.
In the present circumstamce conducting exams exposing the students to the pandemic atmosphere is not advisable and avoidable .When the students have already been tested thoroughly throughout the year regarding their efficacy and efficiency I feel it is sufficient.

300
Bharath Seshadri 41 मिनट 18 सेकंड पहले

Namaskar please chant Mrityunjaya mantra continuously and Sri Rama mantra continuously.Even 1 rupee from the bank account of many people crores of people can become a huge fund to save the child. The government can use the tax paid by citizens to create a fund for such special children’s welfare regularly.please use this means as crowd funding legally for a good noble cause.may God bless you always .There are websites like www.ketto.org where funds are raised to save lives.please organizesupport

25280
kunal kishore 1 घंटा 14 मिनट पहले

Fundamental duty means those duty which had mentioned in our constitution and every people should be responsible for that duty.Duty is a enternal feeling of of human being to do it.Duty is more important than right.it is a Base of country to go ahead.it is self motivated factor to do something for country.Duty make country strong and great.it feels country is our own and we should contribute something for well being of nation.

3290
Arun Bansal 2 घंटे 33 मिनट पहले

Sir, In now a days there is big problem with the exams of graduation and post graduation students.
Universities arranged the exams and cancelled them suddenly due to unavailability of high speed internet and server configuration.

In the solution of that universities can use MCQ on Google forms. It provides good GUI in free. Most of the schools and colleges are taking exams using them or already took.
Universities can use them with 1 hour time limit. and after submit them result declared as wel